कहते हैं कि परिवर्तन ही संसार का नियम है. ऑर्कुट और याहू के चैट रूम से शुरू होने वाले सोशल मीडिया का दौर फेसबूक-व्हाट्सऐप-इन्स्टाग्राम से होते हुए अब टिकटॉक (Tiktok and Facebook) तक आ पहुंची है. बादशाहत किसी की नहीं रहती शायद यही कारण है कि अब फेसबूक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग टिकटॉक के बढ़ते प्रभाव और युवाओं के बीच इसकी बढ़ती लोकप्रियता से रश्क करते नजर आ रहे हैं.

आखिर टिकटॉक से फेसबुक (Tiktok and Facebook) की बादशाहत क्यों खतरे में है?

टिकटॉक के बारे में क्या कहा जुकरबर्ग ने?

टिकटॉक के प्रति बढ़ती युवाओं की दीवानगी के मद्देनजर उनका अपनी टीम से कहना है कि, ”पूरी दुनिया में छाने वाला चीन निर्मित ये प्रथम इंटरनेट उपभोक्ता टेक उत्पाद है. चीन के अलावा भारत और अमरीका जैसे बड़े देशों में टिकटॉक युवाओं को रिझाने में पूरी तरह सफल रहा है.” यही नहीं आगे उन्होने कहा कि “मुझे तो अब लग रहा है कि इंस्टाग्राम भी पीछे छूट गया है.”

क्या कहते हैं रॉयटर्स के आंकड़े

जाहीर है रॉयटर्स एक बेहद विश्वसनीय संस्था है. आपको बता दें कि न्यूज़ एजेंसी रॉयटर्स के आंकड़ों के अनुसार टिकटॉक के मालिक बाइटडांस को वर्तमान वर्ष के शुरुआती छह महीनों में ही तकरीबन 8.4 अरब डॉलर का मुनाफा हुआ है.

क्या है अब जुकरबर्ग के आगे की योजना

जुकरबर्ग भी टिकटॉक की रोचकता से प्रभावित हुए बिना नहीं रह सके. वो इसे स्वीकार करते हुए बोले कि हम टिकटॉक से होने वाले संभावित खतरे को भांप रहे हैं और इसलिए इससे-मिलता जुलता उत्पाद लाने की सोच रहे हैं. उनका ये भी कहना था कि शुरुआत मेक्सिको जैसे देश से करना ठीक रहेगा जहां अभी टिकटॉक अपेक्षाकृत कम लोकप्रिय है.

रिसर्च फ़र्म ऐपऐनी के आंकड़ों पर एक नजर

आखिर टिकटॉक से फेसबुक (Tiktok and Facebook) की बादशाहत क्यों खतरे में है?

इस बात का पता लगाने के लिए किसी रिसर्च फर्म की आवश्यकता नहीं कि अब टिकटॉक का फैलाव चीन से बाहर भी बढ़ता जा रहा है. जाहीर है मोबाइल एप्लीकेशंस के आंकड़ों पर निरंतर नज़र रखने वाली ऐपऐनी भी यही कहती है.

Tiktok and Facebook

आपको बता दें कि इसके एनालिस्ट पॉल बर्न्स का कहना है कि चीन से बाहर के एंड्रॉइड-उपभोक्ता ने अगस्त 2019 में 1.1 अरब से भी ज्यादा घंटे टिकटॉक पर बिताए. प्रतिशत के हिसाब से ये 400 फ़ीसद का उछाल है. यही नहीं इसके उपभोक्ता ज्यादा लॉयल भी हैं. यानि अब Tiktok and Facebook एक दूसरे के कड़े प्रतिद्वंदी बनने की ओर अग्रसर हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your name here
Please enter your comment!