करण जौहर का गुड न्यूज़ (Karans Good Newws) जानने से पहले उनके बारे में तो जानिए। करण जौहर मतलब हिन्दी फिल्म इंडस्ट्री का एक जाना पहचाना नाम। नाम भी ऐसा कमाया जिसके हकदार हैं। हकदार भी ऐसे कि निर्देशन के अलावा भी और कई क्षेत्रों में हाथ आजमाया। आजमाया भी ऐसा कि इनके ज़्यादातर प्रोजेक्ट सफल ही रहे। ऐसा नहीं है कि असफल हुए ही नहीं। असफल भी हुए और बुरी तरह असफल हुए। लेकिन हार नहीं माना और लगे रहे। प्रोडक्शन, शो होस्टिंग, एक्टिंग और कॉस्ट्यूम डिज़ाइनिंग में अपना परचम लहराते रहे। फिलहाल चर्चा में हैं अपनी एक पुरानी गलती को स्वीकारने को लेकर।

क्या है Karans Good Newws?

कहते हैं कि जो इंसान करता है गलती भी उसी से होती है। जाहीर है गलती करना उतना बुरा नहीं है जितना उस गलती का एहसास न करना। करण जौहर को भी अपनी गलती का एहसास हुआ है। भले ही इसमें दशकों लग गए। लेकिन कोई बात नहीं। देर आए दुरुस्त आए। तो 1998 में इनकी एक फिल्म आई थी। नाम था – ‘कुछ कुछ होता है’। अब शबाना आज़मी के कहने पर करण जौहर को लगता है कि उनकी ये फिल्मएक पॉलिटिकली करेक्ट मूवी नहीं थी। जाहीर है ऐसा फिल्म में महिलाओं के चित्रण को लेकर है।

पर अब जब गलती स्वीकार कर ली है तो चारों ओर तारीफ हो रही है। जाहीर है ऐसा करके इन्होंने मिसाल कायम की है। क्योंकि आजकल अपनी गलती मानता ही कौन है? वो भी इतने हाई-प्रोफ़ाइल लोग। तो इस घटना से काफी लोगों पर निश्चित रूप से असर होगा। क्योंकि लोग स्टार्स की बातों और व्यवहार को बहुत फॉलो करते हैं। यही है Karans Good Newws।

एक विवाद थमा तो दूसरा हाजिर है

दरअसल उनके प्रोडक्शन की एक फिल्म आ रही है गुड न्यूज़ (Good Newws)। इसका निर्देशन कर रहे हैं राज मेहता। अब फिल्म के टाइटल में एक एक्स्ट्रा W डालने को लेकर एक दूसरे के ऊपर आरोप प्रत्यारोप लगा रहे हैं। करण ने कहा है कि इसके लिए राज मेहता का वहम जिम्मेदार है। जबकि सच सबको पता है कि फिल्म के प्रोड्यूसर हैं करण जौहर तो बिना उनकी अनुमति के ये कैसे संभव है?

LEAVE A REPLY

Please enter your name here
Please enter your comment!