हेल्थ मिनिस्ट्री की लेटेस्ट प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस बात का खुलासा किया किया गया है कि वो CORONA VACCINE जल्दी लॉन्च करने को तैयार है. जैसे ही इमरजेंसी अप्रूवल मिलेगा उसके 10 दिन के भीतर वैक्सीन लगाने के लिए उपलब्ध होगी. हालांकि हेल्थ सेक्रेटरी ने कहा कि इस बात का फैसला सरकार को करना है कि कब से वैक्सीनेशन शुरू किया जाए.

जानिए हेल्थ मिनिस्टरी ने CORONA VACCINE को लेकर क्या कहा?

CORONA VACCINE पर क्या कहा हेल्थ सेक्रेटरी ने

हम अप्रूवल मिलने के 10 दिन के अंदर कोविड 19 की वैक्सीन उपलब्ध कराने के लिए तैयार हैं. बता दें, कि हाल ही में भारतीय ड्रग रेग्युलेटर ने कोवीशील्ड और कोवैक्सीन के इमरजेंसी यूज ऑथराइजेशन दे दिया है. मतलब अब सरकार के हाथ में है कि वह वैक्सीनेशन का प्रोसेस कब शुरू करे.

फ्रंट लाइन वर्कर्स को नहीं करना होगा रजिस्टर

हेल्थ सेक्रेटरी ने बताया कि हेल्थ वर्कर्स या फ्रंट लाइन वर्कर्स को वैक्सीन के लिए सेल्फ रजिस्टर करने की जरूरत नहीं होगी. इनका डेटा पहले से ही कोविन वैक्सीन डिलीवरी सिस्टम में मौजूद है. कोविन पर सेल्फ रजिस्टर होने की प्रक्रिया सिर्फ आम लोगों के लिए होगी. यह पूरा प्रोसेस डिजिटल होगा. रजिस्ट्रेशन से लेकर वैक्सीन दिए जाने और दूसरे डोज के लिए आने तक की जानकारी डिजिटल तरीके से ही दी जाएगी. वैक्सीन लेने के बाद मेसेज से पता चल जाएगा कि किस लोकेशन पर किस वैक्सीनेटर से वैक्सीन लगावाई गई है. दोनों डोज लेने के बाद क्यूआर बेस डिजिटल सर्टिफिकेट मिलेगा. इस सर्टिफिकेट को मोबाइल या क्लाउड पर मौजूद डिजी लॉकर में भी रख सकते हैं. इसमें एक यूनिक हेल्थ आईडी लेने का भी ऑप्शन होगा.

क्या है टार्गेट?

हेल्थ सेक्रेटरी भूषण ने यह भी बताया कि वैक्सीन को लेकर 4 प्राइमरी वैक्सीन स्टोर GMSD बनाए गए हैं. ये स्टोर करनाल, मुंबई, चैन्नै और कोलकाता में हैं. इसके अलावा 37 दूसरे स्टोर भी हैं जहां पर वैक्सीन को रखा जाएगा. यहां वैक्सीन के सारे स्टॉक रहेंगे. यहां से ही देश भर में वैक्सीन भेजी जाएगी. स्टोर करने की ये सभी सुविधाएं भारत मे पिछले दशक से ही मौजूद हैं और पूरी तरह से भरोसेमंद हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your name here
Please enter your comment!