28 जनवरी की शाम कोयूपी पुलिस के जवान भारी तादाद में जुटने लगे. वो सभी लाठियों, हथियारों से लैस थे. टीवी चैनलों ने भी कयास लगाने शुरू कर दिए कि 28-29 जनवरी की रात ग़ाज़ीपुर बॉर्डर पर कुछ भी हो सकता है. ये भी ख़बरें फ़्लैश हो रही थीं कि यूपी सरकार ने प्रदेश भर के ज़िलाधिकारियों और पुलिस अधीक्षकों को फरमान जारी कर दिया है कि जगह-जगह से किसानों का धरना ख़त्म कराएं. लेकिन अचानक एक ऐसा घटनाक्रम हुआ, जिसके बाद हालात बदलते नजर आने लगे. राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने लाई किसान आंदोलन में नई ट्विस्ट?

राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने लाई किसान आंदोलन में नई ट्विस्ट?

ग़ाज़ीपुर बॉर्डर पर किसानों के साथ मौजूद भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत से पुलिस अधिकारियों ने बात की. फिर राकेश टिकैत मंच पर चढ़े. लोगों को लगने लगा कि टिकैत अब आत्मसमर्पण करने या आंदोलन ख़त्म करने की घोषणा कर देंगे. लेकिन नहीं. टिकैत ने स्टोरी को ट्विस्ट कर दिया. कह दिया कि आत्मसमर्पण नहीं करेंगे. पुलिस चाहे तो उन्हें गिरफ़्तार कर ले, लेकिन पक्की काग़ज़ी कार्रवाई के बाद.

सस्पेन्स बना हुआ था. लेकिन उसी समय कुछ ऐसा हुआ कि यूपी पुलिस का पूरा महकमा सकते में आ गया. टीवी पर राकेश टिकैत रोते हुए देखे गए. फूट-फूटकर रो रहे थे. कह रहे थे कि मैं आत्महत्या कर लूंगा, लेकिन आंदोलन को ख़त्म नहीं करूंगा. टिकैत ने बड़े आरोप लगाए. कहा कि किसानों को मारने की कोशिश की जा रही है. स्थानीय बीजेपी विधायकों पर भी आरोप लगाया कि वो 300 लोगों के साथ लाठी-डंडे लेकर आए हैं.

क्या बस रोने की वजह से पुलिस ने क़दम वापिस खींच लिए?

ऐसा नहीं था. लेकिन टिकैत के आंसुओं को देखकर पश्चिमी यूपी के कई जिलों से किसान ग़ाज़ीपुर बॉर्डर की ओर रात में ही रवाना हो गए. मुजफ्फरनगर के सिसौली गांव में राकेश टिकैत के घर पर हज़ारों की संख्या में किसान पहुंच गए. राकेश के भाई नरेश टिकैत, जिन्होंने कुछ ही घंटों पहले कहा था कि पुलिस की लाठी खाने से अच्छा है कि धरनास्थल से हट जाना— उन्होंने भी नया सिग्नल दे दिया.

तब तक ख़बर भी उड़ने लगी थी कि भाई-भाई में फूट पड़ गयी. लेकिन ऐसा नहीं था. सारे कन्फ़्यूजन के बीच राष्ट्रीय लोक दल के नेता जयंत चौधरी ने ट्विटर पर लिखा कि उनके पिता यानी चौधरी अजीत सिंह ने राकेश और नरेश टिकैत से बात की है, और उनसे एकजुट रहने की अपील की है. कन्फ़्यूजन दूर हो गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your name here
Please enter your comment!