कॉल ड्रॉप (Call Drop) की समस्या सिर्फ हमारे यहाँ ही नहीं है. हाँ, ये हो सकता है कि अपने यहाँ ज्यादा हो. कॉल ड्रॉप (Call Drop) का नाम तो सबने सूना है लेकिन इसके बारे में जानकारी सबको नहीं है.

घरों में पौधे लगाने के अनेकों प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष फायदे हैं. लेकिन जैसा कि सभी जानते हैं कि हर चीज का एक निश्चित स्थान होता है. इसलिए वस्तु विशेष को उस स्थान पर रखने से वो ज्यादा प्रभावी बन जाता है. घरों में खुशहाली के लिए इन 7 पौधों (Plants) को कहाँ लगाने से ज्यादा लाभ मिलेगा? 1. बोन्साई पौधे (Plants) बोन्साई पौधे देखने में भले ही अच्छे लगते हैं लेकिन ये सकारात्मक ऊर्जा नहीं ला पाते हैं. इसका कारण इनका धीरे-धीरे बढ़ना है. आप चाहें तो इसे अपने दफ्तर के बाहर लगाएं लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि ये मुर्झाए नहीं. जैस ही मुर्झाना शुरू हो उसे तुरंत बदल दें. इस बात का भी ध्यान रखें कि ये आपके ऑफिस के पूर्वी, दक्षिण या दक्षिणपूर्वी दिशा में स्थापित हो. 2. मनी प्लांट ये तो लगभग सभी घरों में मिल जाएगा. लेकिन इसका भरपूर फायदा उठाने के लिए इसे घर के दक्षिणपूर्वी दिशा में स्थापित करें. क्योंकि ये दिशा कुबेर का दिशा है इसलिए इस दिशा में रखने से ही ये सक्रीय रहता है. 3. बांस फेंगशुई में निगेटिविटी दूर करने के लिए इसे महत्वपूर्ण माना गया है. बस इसे लगाते समय कुछ बातों का अवश्य ध्यान रखें. जैसे उसमे पाँच बांस हों जो पांच तत्व, जल, अग्नि, धरती, धातु और लकड़ी का प्रतिनिधित्व करते हों. जल और धरती का प्रतिनिधित्व करने के लिए उसमें पानी और पत्थर डालें. धातु और आग के प्रतिक के रूप में इसमें सिक्का डालें और लाल रंग का कपड़ा बांध दें. 4. कैक्टस कैक्टस के पौधे को भुलकर भी बेडरूम या ऑफिस में न रखें. इसे अपनी बालकनी में रखें. इससे आप अपने पसंद के पौधे को रख भी सकेंगे और इसकी ऊर्जा का पूरा लाभ भी ले सकेंगे. 5. चमेली चमेली का फुल तो सभी पसंद करते हैं. इसका हमारे लिए धार्मिक महत्व भी है लेकिन इसे घर के भीतर लगाने से बचें. इसे घर के बहार या बगीचे में क्यारी बना कर लगाएं. 6. नींबू या संतरे का पौधे (Plants) ये सभी प्रकार के नकात्मक ऊर्जा को आपसे दूर रखता है. इसलिए इसके महत्व को देखते हुए इसे घर के मुख्य द्वार के सामने लगाएं. 7. ध्यान रखें एक चीज हमेशा ध्यान रखें कि पौधों में से पुराने फूलों को हटाते रहें. पुराने पत्ते या मुरझाई चीजों को हटाते रहें क्योंकि ये नकारात्मकता के प्रतीक हैं.

रेडियो वेव्स की फ्रीक्वेंसी का लोचा

कोई भी आवाज़ हम तक वेव के रूप में ही आती है और हर वेव की अपनी फ्रीक्वेंसी होती है. यानी हमें एक निर्धारित फ्रीक्वेंसी की वेव आवाज के रूप में सुनाई देती हैं. इसका अर्थ ये भी हुआ कि बाकी की आवाज़ को हम नहीं सुन सकते. मोबाइल में आवाजों को हम रेडियो वेव्स के जरिये सुनते हैं. इसकी फ्रीक्वेंसी होती है 3 किलोहर्ट्ज़ से 30 गीगाहर्ट्ज़ के बीच होती है. मतलब कम फ्रिक्वेंसी पर बेहतर आवाज मिलता है.

स्पेक्ट्रम का झोल

सभी देशों में स्पेक्ट्रम, सरकार के पास होता है. स्पेक्ट्रम की ऊपरी और निचली लिमिट के बीच एक ही तरह की वेव्स की तमाम फ्रीक्वेन्सीज़ होती हैं. इस स्पेक्ट्रम को फिर अलग-अलग भागों में बांटा जाता है. ऐसा ही एक स्पेक्ट्रम का ढांचा देश में रेडियो वेव्स के लिए बना है. जिसकी सीमा सरकार द्वारा तय होती है लेकिन हमारे पास और देशों के मुकाबले मोबाइल नेटवर्क के लिए छोटा स्पेक्ट्रम है. अपने यहाँ मोबाइल ऑपरेटर्स 10.5 मेगाहर्ट्ज़ के ऐवरेज के स्पेक्ट्रम का इस्तेमाल करते हैं. जबकि वैश्विक स्तर पर ये औसत 50 मेगाहर्ट्ज़ का है. अपने देश के लिए उपलब्ध छोटे से स्पेक्ट्रम को और दर्जनों छोटे-छोटे हिस्सों में बांटा दिया जाता है.

घरों में पौधे लगाने के अनेकों प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष फायदे हैं. लेकिन जैसा कि सभी जानते हैं कि हर चीज का एक निश्चित स्थान होता है. इसलिए वस्तु विशेष को उस स्थान पर रखने से वो ज्यादा प्रभावी बन जाता है. घरों में खुशहाली के लिए इन 7 पौधों (Plants) को कहाँ लगाने से ज्यादा लाभ मिलेगा? 1. बोन्साई पौधे (Plants) बोन्साई पौधे देखने में भले ही अच्छे लगते हैं लेकिन ये सकारात्मक ऊर्जा नहीं ला पाते हैं. इसका कारण इनका धीरे-धीरे बढ़ना है. आप चाहें तो इसे अपने दफ्तर के बाहर लगाएं लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि ये मुर्झाए नहीं. जैस ही मुर्झाना शुरू हो उसे तुरंत बदल दें. इस बात का भी ध्यान रखें कि ये आपके ऑफिस के पूर्वी, दक्षिण या दक्षिणपूर्वी दिशा में स्थापित हो. 2. मनी प्लांट ये तो लगभग सभी घरों में मिल जाएगा. लेकिन इसका भरपूर फायदा उठाने के लिए इसे घर के दक्षिणपूर्वी दिशा में स्थापित करें. क्योंकि ये दिशा कुबेर का दिशा है इसलिए इस दिशा में रखने से ही ये सक्रीय रहता है. 3. बांस फेंगशुई में निगेटिविटी दूर करने के लिए इसे महत्वपूर्ण माना गया है. बस इसे लगाते समय कुछ बातों का अवश्य ध्यान रखें. जैसे उसमे पाँच बांस हों जो पांच तत्व, जल, अग्नि, धरती, धातु और लकड़ी का प्रतिनिधित्व करते हों. जल और धरती का प्रतिनिधित्व करने के लिए उसमें पानी और पत्थर डालें. धातु और आग के प्रतिक के रूप में इसमें सिक्का डालें और लाल रंग का कपड़ा बांध दें. 4. कैक्टस कैक्टस के पौधे को भुलकर भी बेडरूम या ऑफिस में न रखें. इसे अपनी बालकनी में रखें. इससे आप अपने पसंद के पौधे को रख भी सकेंगे और इसकी ऊर्जा का पूरा लाभ भी ले सकेंगे. 5. चमेली चमेली का फुल तो सभी पसंद करते हैं. इसका हमारे लिए धार्मिक महत्व भी है लेकिन इसे घर के भीतर लगाने से बचें. इसे घर के बहार या बगीचे में क्यारी बना कर लगाएं. 6. नींबू या संतरे का पौधे (Plants) ये सभी प्रकार के नकात्मक ऊर्जा को आपसे दूर रखता है. इसलिए इसके महत्व को देखते हुए इसे घर के मुख्य द्वार के सामने लगाएं. 7. ध्यान रखें एक चीज हमेशा ध्यान रखें कि पौधों में से पुराने फूलों को हटाते रहें. पुराने पत्ते या मुरझाई चीजों को हटाते रहें क्योंकि ये नकारात्मकता के प्रतीक हैं.

Call Drop: यानी स्पेक्ट्रम और टावर का टोटा

सरकार के इस्तेमाल से बचे हुए स्पेक्ट्रम को मोबाइल कॉल के लिए इस्तेमाल किया जाता है. इस बचे हुए स्पेक्ट्रम को कंपनियों के लिए और आगे बांटा जाता है. जगह-जगह खड़े मोबाइल टॉवर एक बूस्टर की तरह हैं. यानी ये रेडियो सिग्नल की ताकत को बढ़ाते हैं. जिससे रेडियो वेव्स ज़्यादा दूरी तक जा सकते हैं. यानी टॉवरों के बिना मोबाइल नेटवर्क का आना नामुमकिन है. दिन पर दिन सेलफ़ोन की संख्या बढ़ती ही जा रही है जिसकी वजह से लिमिटेड स्पेक्ट्रम का इस्तेमाल ज़्यादा होने लगा है. इसलिए पैदा हुए नेटवर्क जाम के कारण कॉल ड्रॉप (Call Drop) की सम्भावनाबढ़ती है. बेहतर ऑडियो और डाटा ट्रांसमिशन के लिए 2 लाख़ और टॉवरों की ज़रूरत है. इसका एक कारण ये भी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your name here
Please enter your comment!