सदा से ही कुछ लोकप्रिय हस्तियाँ सोशल मीडिया पर विवादों से बचने में यक़ीन रखती हैं. ऐसे लोग अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स पर सिर्फ़ अपनी फ़िल्मों या गानों आदि को लेकर बात करते हैं. लेकिन इसके साथ ही एक दूसरा वर्ग उन हस्तियों का भी है, जो विवादित हो या ग़ैर विवादित, हर मुद्दे पर खुलकर अपनी राय रखने में यक़ीन रखती हैं. हाल ही में किसान आंदोलन पर खुलकर अपनी राय रखने वाली रिहाना भी चर्चा में हैं. रिहाना (Rihanna) के बारे में ये बातें जानकर हैरान रह जाएंगे आप!

रिहाना (Rihanna) के बारे में ये बातें आप नहीं जानकर हैरान रह जाएंगे आप!

कौन हैं रिहाना (Rihanna)?

पॉप म्यूज़िक की दुनिया की सबसे बड़ी हस्तियों में से एक रिहाना दूसरे वर्ग में शामिल हस्तियों में गिनी जा सकती हैं.

पॉप म्यूज़िक इंडस्ट्री में रिहाना की शुरुआत ही काफ़ी धमाकेदार रही. बचपन से मडोना, बॉब मारले और जैनेट जैक्सन जैसे सितारों को देखकर बड़ी हुईं रिहाना ने अपना पहला ‘अलबम म्यूज़िक ऑफ़ द सन’ और ‘अ गर्ल लाइक मी’ साल 2005 में रिकॉर्ड किए.

कैरिबियाई म्यूज़िक से प्रभावित ये दोनों अलबम बिलबॉर्ड 200 चार्ट के टॉप टेन लिस्ट में शामिल हुए.

लेकिन इसके बाद साल 2007 में ‘गुड गर्ल गॉन बैड’ अलबम के साथ रिहाना दुनिया भर में छा गईं. उनके सिंगल अंब्रेला की वजह से रिहाना को उनका पहला ग्रैमी अवॉर्ड मिला.

अंब्रेला लगातार 11 हफ़्तों तक यूके सिंगल्स चार्ट पर पहले स्थान पर बना रहा. फिर 2009 में अपने सिंगल रशियन रौले की वजह से 2000 के दशक की 100 हॉट फीमेल आर्टिस्ट्स में उन्होंने दूसरे स्थान पर जगह बनाई.

मात्र 10 साल लंबे म्यूजिक करियर में रिहाना ने आठ ग्रैमी अवॉर्ड और 14 बिलबोर्ड म्युजिक अवॉर्ड्स जीते हैं. इसके साथ ही रिहाना के 14 गानों ने बिलबोर्ड हॉट 100 लिस्ट में सबसे तेज़ जगह बनाने का रिकॉर्ड बनाया था.

दुनिया भर में रिहाना ने 54 मिलियन अलबम और 210 मिलियन गाने बेचने का रिकॉर्ड बनाया है. अंतरराष्ट्रीय दौरों के मामले में भी रिहाना का जलवा कायम है. वह पहली ऐसी आर्टिस्ट हैं जिन्होंने लंदन के ओटू एरीना में 10 कंसर्ट किए हैं.

रिहाना के ट्विटर प्रोफाइल पर नज़र डालें, तो 32 वर्षीय रिहाना ने घरेलू हिंसा, एलजीबीटीक्यू, डोनाल्ड ट्रंप से लेकर म्यांमार और भारत में किसान आंदोलन जैसे विषयों पर ट्वीट किया है.

साल 2018 में रिहाना ने स्नैपचैट द्वारा उनके साथ हुई घरेलू हिंसा का मज़ाक बनाए जाने के विरोध में बयान दिया था, जिस पर स्नैपचैट की ओर से माफ़ी माँगी गई थी.

इसके अलावा साल 2020 रिहाना को फेंटी लॉन्जरी फैशन शो के दौरान इस्लामिक आयतों का इस्तेमाल करने के लिए माफ़ी भी माँगनी पड़ी थी.

यही नहीं साल 2013 में रिहाना ने अबू धाबी में एक संगीत कार्यक्रम में हिस्सा लिया था. अपने इस टूर के दौरान रिहाना को एक मस्जिद में अनुमति लिए बगैर आपत्तिजनक तस्वीरें खिंचवाने पर मस्जिद से निकल जाने का आदेश दिया गया था.

लेकिन सोशल मीडिया पर रिहाना को उन युवा हस्तियों में गिना जाता है, जो विरोध की परवाह किए बग़ैर खुलकर अपने दिल की बात कहना पसंद करती हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your name here
Please enter your comment!