Bollywood Songs तो सभी को पसन्द होते हैं. बॉलीवुड में हिट्स गानों की लंबी सूची है. कई बेहतरीन गाने ऐसे हैं जिनका जो काफी अर्थपूर्ण हैं, वहीं दूसरी तरफ बहुत सारे ऐसे गाने भी हैं बे सर पैर के होते हैं. यानी इनका कुछ अर्थ नहीं होता है. लेकिन रोचक बात ये है कि ये पॉपुलैरिटी के मामले में ये सभी गाने आगे हैं.

क्या आपको पता है इन अजीब लगाने वाले Bollywood Songs का मतलब?

फ़िल्म मैं खिलाड़ी तू अनाड़ी

सैफ़ अली ख़ान और अक्षय कुमार की इस फ़िल्म के गाने बहुत लोकप्रिय हुए थे. बोल थे – साला उफ़मा आईगा आईला बोले आले आले, मैं खिलाड़ी तू अनाड़ी. सैफ़ अली ख़ान और अक्षय कुमार की फ़िल्म ‘ये दिल्लगी’ का एक और गाना था -“जब भी कोई लड़की देखूं मेरा दिल दीवाना बोले, ओले ओले ओले”. क्या दिल ओले ओले बोलता है?

फ़िल्म कहो ना प्यार है

ये फ़िल्म ऋतिक रोशन की पहली फ़िल्म थी. और इस फिल्म ने उन्हें रातों रात स्टार बना दिया था. इस फिल्म के सारे गाने सुपरहिटरहे थे. इस गाने में ऋतिक रोशन का डान्स लोगों को पसंद आया. बाक़ी चीज़ों पर ध्यान ऐसा गया कि बोल का ज़्यादा मोल नहीं रहा. बोल- “ए मेरे दिल तू गाए जा, ए आए आ ओ आ ए आ”

Bollywood Songs फ़िल्म – जंगली से

मोहम्मद रफ़ी के गाये इस Bollywood Songs पर शम्मी कपूर जमके नाचे. शंकर जयकिशन द्वारा निर्देशित इस गाने के बोल थे – “आई याई या करूँ मैं क्या सुकू सुकू, दिल मेरा हो गया सूकू सुकू.” वहीं किशोर कुमार का गाना तो आपको याद होगा. बोल थे – “ईना मीना डीका, डाय डामा डीका, माका नाका नाका.” एक और गाना आपने गुनगुनाया होगा जब बारिश हुई होगी- डम डम डीगा डीगा, मौसाम भीगा भीगा.

फ़िल्म धूम

“रम राक्ता रीगीरी राक्ता रम, दिलबरा ऐ दिलबरा अपन की तू अपुन तेरा.” इसे कंपोज़ किया था प्रीतम चक्रबर्ती ने. इसे सौम्या और अभिजित ने मिलकर गाया था. शब्द ऐसे होते हैं कि वो धुन से मेल खाते हैं इसलिए गाने में होते हैं. लेकिन कुछ ख़ास मतलब नहीं होता. ऐसे नहीं है कि ऐसे गाने पहले नहीं बनते थे.

फ़िल्म राजा बाबू

आनंद, जॉली मुखर्जी और विनोद राठौर द्वारा गाए गए इस गाने के बोल थे – “पाक चिक पाक राजा बाबू, चल गया कोई जादू.” फ़िल्म ‘गोपी किशन’ में सुनील शेट्टी और करिश्मा कपूर ने गाना गाया, शहर के बीचों बीच . बोल थे- “ये लड़की मेरे सामने मेरा दिल लिए जाए जाए, हाय हुक्कु हाय हुक्कु हाय हाय.”

फ़िल्म- हेरा फेरी

तबू, अक्षय कुमार और सुनील शेट्टी की फिल्म “हेरा फेरी” में गाने में हर पंक्ति के बाद था – पौं पौं पौं. सुनील शेट्टी की फ़िल्म ‘आक्रोश’ का एक और गाना था – ‘हेलो हेलो बोलके , मेरे आजू बाजू डोलके.’ 90 के दशक में तो ऐसे बहुत से गाने थे जिसके मतलब बेशक समझ नहीं आए पर गाने सुपरहिट.

क्या आपको पता है इन अजीब लगाने वाले Bollywood Songs का मतलब?

फ़िल्म- राउडी राठौर

“चिंता ता चिता चिता चिता, चिंता ता ता ता” इस फ़िल्म में हैं सोनाक्षी सिन्हा और अक्षय कुमार. संगीत समीक्षक रोहित मेहरोत्रा का कहना हैं, “ऐसे बिना मतलब के, बेहूदा लिरिक्स कोई नई बात नहीं. हो सकता है कि संगीतकार और गीतकार को एकदम से कुछ सूझा. बल्कि कई गानों में लिरिक्स और वीडियो में कोई मेल नहीं, कोई तुक नहीं. ऐसे गाने इसलिए बनाए जाते हैं ताकि लोगों का ध्यान इनपर आए और बाकी गानों से अलग लगें.”

फ़िल्म- ये जवानी है दीवानी

रणबीर कपूर और दीपिका पादुकोण की फ़िल्म के गाने लोगों को पसंद आए. मतलब से कोई मतलब नहीं. बोल कुछ ऐसे थे – “पान में पुदीना देखा, नाक का नगीना देखा, चाँद ने चीटर होके चीट किया तो सारे तारे बोले गिल्ली गिल्ली अख्खा.” फिल्म ‘गोलियों की रासलीला-रामलीला’ का गाना – तत्तड़ तत्तड़ भी तो आपको याद होगा ही.

LEAVE A REPLY

Please enter your name here
Please enter your comment!