गर्भावस्था (Pregnancy) में खाने को लेकर कई तरह की बातें और सलाह हमारे पास होते हैं. जाहिर है उनमें से कुछ नुकसानदेह भी हो सकते हैं. ऐसे में एक सही राय बनाना बहुत जरुरी है. इसलिए हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसी बातें जिन्हें जानने के बाद आपको अपनी राय बनाने में मदद मिलेगी.

गर्भावस्था (Pregnancy) के दौरान क्या खाएं?

प्रेग्नेंसी (Pregnancy) को लेकर क्या कहता है सर्वे?

जैसा कि आम तौर पर होता है ऐसे मामलों में लोगों में जागरूकता कम ही होती है. इस मामले में हुए ज्यादातर सर्वे में भी यही बात सामने आई. जब महिलाओं से प्रेग्नेंसी के समय खाने को लेकर सवाल पूछे गए तो ज्यादातर महिलाओं को इसका जवाब ही नहीं पता था. एक संस्था के रिपोर्ट में अनुसार प्रेग्नेंसी के पहले 6 महीने के दौरान महिलाओं को अतिरिक्त कैलोरी की जरुरत नहीं होती है. लेकिन आखिरी 3 महीने में प्रत्येक दिन अतिरिक्त 200 कैलोरी की जरुरत होती है.

लेकिन खाएं क्या-क्या?

जाहिर है कि आखिरी तीन महीने अतिरिक्त कैलोरी के लिहाज से बेहद महत्वपूर्ण हैं. इस दौरान उन्हें प्रत्येक दिन खाने और पीने को मिलाकर लगभग 2000 कैलोरी रोज चाहिए होता है. विशेषज्ञों के अनुसार इस दौरान आपका खाना संतुलित होना चाहिए. इसमें फल और सब्ज़ियां, कार्बोहाइड्रेट्स (पास्ता और आलू), प्रोटीन (दाल, मछली, अंडा और मांस, दूध, दही जैसे डेयरी प्रोडक्ट्स) और वसा आदि शामिल होने चाहिए. लेकिन इस दौरान ज्यादा खाने से बचना चाहिए. क्योंकि इससे मोटापा आ सकता है और कई तरह की समस्याएं जैसे गर्भपात हाई ब्लड प्रेशर और डायबिटीज़ आदि का खतरा होता है.

गर्भावस्था (Pregnancy) के दौरान क्या खाएं?

आपको बता दें कि इस दौरान ज्यादा भोजन/कैलोरी लेने का कारण ये है कि आपको खाना अपने साथ-साथ अजन्मे बच्चे के लिए भी लेना पड़ता है. लेकिन कई संस्थाओं का मानना है कि इस ये एक मिथ है और इसको दूर किए जाने की जरूरत है. इस सन्दर्भ में ये भी कहा जा सकता है कि महिलाओं को ज्यादा से ज्यादा जागरुक करने की जरुरत है.

LEAVE A REPLY

Please enter your name here
Please enter your comment!